राजस्थानी तीज-त्यूँवार, नेगचार, गीत-नात, पहराण, गहणा-गांठी अर बरत-बडूल्यां री सोवणी सी झांकी है तीज-त्यूँवार...

राजस्थानी ठाँव - हमेल

राजस्थान मैं गहणा नैं ठाँव भी कह्यो जाय है | हमेल अठे को पारंपरिक गहणों (ठाँव )है |


हमेल [Hamel]

लिखिए अपनी भाषा में